शहीद यादगारी यात्रा

नौजवान भारत सभा की उत्‍तर-पश्चिमी दिल्‍ली इकाई द्वारा चलाई जा रही Shaheed Yaadgari Yatra
के तहत आज चौदहवें दिन रोहिणी के सेक्‍टरों 15, 16, 17, 18, 19 और बादली में शहीद झांकी का जुलूस निकाला गया।जुलूस के दौरान जगह-जगह नुक्‍कड़ सभाएं करते हुए व्‍यापक स्‍तर पर पर्चा वितरण किया गया। सेक्‍टर 16 के डिस्ट्रिक्‍ट पार्क में श्रद्धां‍जलि सभा में भगतसिंह, राजगुरु और सुखदेव की तस्‍वीरों पर माल्‍यार्पण करके आज शहीद यात्रा के एक पड़ाव की समाप्ति की घोषणा की गई।
सभा में बात रखते हुए नौभास के अपूर्व ने कहा कि भगतसिंह की लड़ाई का अंतिम लक्ष्‍य एक समतामूलक समाज का निर्माण करना था। उनकी लड़ाई साम्राज्‍यवाद-पूंजीवाद के खिलाफ थी, जो आज भी जारी है। मेहनतकश आबादी आज साम्राज्‍यवाद-पूंजीवाद के जुए तले पिस रही है, लेकिन उसके खिलाफ संघर्ष भी कर रही है। भारत जैसे देश में भी आज इस लड़ाई को तीखा करने की जरूरत है आैर आम मेहनतकश-मजदूर आबादी को मुक्ति के ख्‍वाब को हर इंसाफपसंद, संवेदनशील बहादुर नौजवानों और नागरिकों के दिलों में जिंदा करने की जरूरत है।

  12885987_1688069121447061_8438339099416484835_o886071_1688069304780376_6771323034064494612_o

Related posts

Leave a Comment

four × 2 =